DA Aur PA Kya Hai? Kaise Kaam Karta Hai

नमस्कार दोस्तों, में सिधार्थ आपको स्वागत करता हूँ एक और नया पोस्ट में. आज हम इस पोस्ट की माध्यम से जानेंगे DA Aur PA Kya Hai? और कैसे काम करता है. आज बहुत सारे ब्लॉगर या फिर जिनकी वेबसाइट/ब्लॉग गूगल पर है. उनको इस चीज को लेकर बहुत सारी सबाल है. जिसका उतर अभी तक उनको मालूम नहीं हुआ है.

लेकिन दोस्तों आज की इस पोस्ट में बो सारी तथ्य प्रदान करूँगा, जिसे आपकी मदत हो जाए. आपको इस चीज के बारे मे सब कुछ पता चल जाए. तो चलिए दोस्तों बिना बहुमूल्य समय नस्त करे बगेर जानते है DA Aur PA Kya Hai? और कैसे काम करता है.

DA और PA Kya Hai?

सबसे पहेले Moz नाम की एक SEO सर्विस साईट ने DA और PA को अबिस्कार किआ था. सब इसको लोच किआ गया था तो लोगो को इसके ऊपर बिलकुल भी बिस्वाश नहीं था. लेकिन जैसे जैसे दिन आगे बढता गया और मार्किट में नया SEO मास्टर्स इसको ज्यादा बोलने लगे और उसके बाद आज सभी के मन में एक ही सबाल है DA Aur PA Kya Hai? और कैसे काम करता है.

DA का मतलब है Domain Authority और PA का मतलब है Page Authority. Domain Authority दर्शाता है आपकी particular domain का authority के बारे में. Page Authority दर्शाता है आपकी डोमेन या फिर ब्लॉग में जितनी भी सारी पेज और पोस्ट है उनकी Authority के बारे में.

DA और PA कैसे काम करता है?

दोस्तों आज भी बहुत सारे SEO Experts का मानना है की गूगल में अपनी पोस्ट को रैंक करने के लिए DA और PA matter नहीं करता है, अगर आपकी कंटेंट अच्छा हो और लेटेस्ट हो. लेकिन आज भी कुछ SEO Experts का मानना है की गूगल में अपनी पोस्ट को रैंक करने के लिए DA और PA matter करता है.

अगर आप लोग मान ते हो गूगल में रैंक करने के लिए DA और PA matter करता है तो जानिए एय कैसे काम करता है. दोस्तों आगा आपकी ब्लॉग का की एक पोस्ट का Page Authority और Domain Authority कम है तो फिर आपकी रैंकिंग गूगल पर हमेशा निचे ही रहेगा. इस चीज को में नहीं कहे रहा हूँ, इस चीज को SEO Experts कहे रहे है.

अगर आपकी ब्लॉग का सब कुछ सही है और आपकी पोस्ट का क्वालिटी भी अच्छा है तो फिर आपकी पोस्ट गूगल पर रैंक करेगी और आपके ब्लॉग में भर भर के ट्रैफिक आने लगेंगे. एक दम सरल भासा में समझे तो जिस वेबसाइट/ब्लॉग का डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी बड़ा है उसका वेबसाइट गूगल के ऊपर और जिसका Page Authority और Domain Authority है उसका वेबसाइट गूगल के निचे दिखता है.

कैसे DA और PA बढ़ाये

दोस्तों आपकी वेबसाइट/ब्लॉग का Page Authority और Domain Authority कम है और आपकी ब्लॉग गूगल पर रैंक नहीं हो रहा है. अगर आप चाहते हो आपकी Page Authority और Domain Authority बढाकर गूगल में रैंक करना तो आप कर सकते हो.

आपकी Page Authority और Domain Authority को बढ़ाने के लिए Link Building करना पड़ेगा. Link Building आप बिलकुल फ्री में कर सकते हो और पेड में भी कर सकते हो. फ्री में करने के लिए सबसे पहेले आपको अकी वेबसाइट/ब्लॉग के अन्दर एक पोस्ट में और एक पोस्ट की लिंक को ऐड करना पड़ेगा और उसके बाद आपकी डोमेन या फिर वेबसाइट का यूआरएल को लेकर बो सभी साइट्स में सबमिट करना होगा. जिसका Page Authority और Domain Authority बढ़िया और ज्यादा होगा.

अगर आप डेली आपकी वेबसाइट का लिंक को सबमिट करते हो बो भी बड़ी वेबसाइट में तो फिर आपकी Domain Authority खूब जल्द बढ़ने लगेगा और आपकी वेबसाइट गूगल पर रैंक जरुर होगा. जिसे आपकी वेबसाइट/ब्लॉग पर तर्फ्फिक आएगा. लेकिन दोस्तों हमेशा एक ही बात का ध्यान रखिये की आप जल्द Page Authority और Domain Authority बढ़ाने की चक्कर में उन स्पमी साइट्स में अपना वेबसाइट का लिंक सबमिट मत कीजिये.

नही टॉप आपकी Page Authority और Domain Authority तो बढ़ जाएगा, लेकिन गूगल में रैंक नहीं होगा और कभी भी गूगल खुद स्पैम कर सकता है. कोशिश कीजिए जितना हो सके उतना लिंक सबमिट कीजिए जिसका अच्छा स्टैट्स हो और गूगल में रैंक हो.

DA और PA क्या फाइदा

Page Authority और Domain Authority का बहुत सारे फाइदा है. अगर आपकी वेबसाइट का Page Authority और Domain Authority अच्छा है तो फिर आपके लिए बहुत सारे Sponsership मिलेगा, जिसे आप अपना वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ा सकते हो और कुछ रोज़गार कर सकते हो.

इसके आलबा आप आपकी वेबसाइट या फिर ब्लॉग को बड़ी आसनी से हाई क्वालिटी कंटेंट लिख कर और उसके बाद पब्लिश करके गूगल में पहेले रैंक कर सकते हो.

Conclusion

दोस्तों में आसा करता हूँ आप लोग पूरी तरी कैसे समझ गए होंगे Page Authority और Domain Authority क्या है और कैसे काम करता है. अगर आपको अभी भी कुछ जानकारी चाहिए DA और PA के बारेमे तो आप मुझे बता सकते हो. में आपकी मदत जरुर करूँगा. इस पोस्ट को आखिर तक पड़ने के लिए आपको धन्यबाद.

Leave a Comment